आयोजनदेश दुनियाप्रदेशयात्राशहर बनारस
Trending

काशी-केवड़िया सुपरफास्ट ट्रेन सहित आठ ट्रेनों को प्रधानमंत्री मोदी ने दिखाई हरी झंडी, जाने क़्या हैं इस ट्रेन में खास बात

अधिक जानकारी हेतु देखें यह पूरा पोस्ट

रिपोर्ट श्वेताभ सिंह

काशी-केवड़िया सुपरफास्ट ट्रेन सहित आठ ट्रेनों को प्रधानमंत्री मोदी ने दिखाई हरी झंडी, जाने क़्या हैं इस ट्रेन में खास बात

प्रधानमंत्री मोदी ने केवडिया के लिए 8 नई ट्रेनों दिखाई हरी झंडी (फ़ोटो एजेंसी)
प्रधानमंत्री मोदी ने केवडिया के लिए 8 नई ट्रेनों दिखाई हरी झंडी (फ़ोटो एजेंसी)

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को केवड़िया को देश के विभिन्न राज्यों से जोड़ने के लिए राष्ट्र को 8 नई ट्रेनों की सौगात दी है, जिसमें एक ट्रेन काशी-केवड़िया वाराणसी के कैंट स्टेशन के प्लैटफार्म नंबर 1 से पीएम ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। प्रधानमंत्री ने ई-लोकार्पण कर सभी ट्रेनों को केवड़िया के लिए रवाना किया। इस मौके पर प्रधानमंत्री द्वारा रेलवे की अन्य परियोजनाओं और स्टेशन भवनों का भी उद्घाटन हुआ। 

वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन से सप्ताह में एक दिन इस ट्रेन का संचालन होगा। 27 घण्टे 50 मिनट में ये ट्रेन काशी से केवड़िया का सफर तय करेगी। यह ट्रेनें बनारस, दादर, अहमदाबाद, हज़रत निजामुद्दीन, रीवा, चेन्नई, प्रतापनगर और केवडिया से चलेंगी। लोकार्पण का कार्यक्रम प्रातः 11 बजे से शुरु हुआ।
इस अवसर पर कुछ लघु फिल्में भी दिखाई गई। केवड़िये स्टेशन स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से सिर्फ पांच किलोमीटर की दूरी पर है, जिससे वहां पहुंचने वाले यात्री सरदार पटेल की भव्य स्टेच्यू देख सकते हैं। इन ट्रेनों के संचालन से पर्यटन को भी काफी बढ़ावा मिलेगा।

इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि “यह पल अपने आप में ऐतिहासिक है। उन्होंने कहा कि रेलवे के इतिहास में संभवतः पहली बार जब एक साथ देश के अलग अलग कोने से एक ही जगह के लिए इतनी ट्रेनों को हरी झंडी दिखाई गई हो। आज का यह आयोजन सही मायने में भारत को एक करती भारतीय रेलवे के मिशन और सरदार पटेल के विजन दोनों को परिभाषित कर रहा है। “

इस मौके पर केंद्रीय रेल मंत्री पियूष गोयल ने कहा कि ‘इन ट्रेनों के संचालन से ना सिर्फ स्टैच्यू औफ यूनिटी को अलग-अलग राज्यों से जोड़ा जाएगा बल्कि इससे पर्यटन, व्यापार और रोजगार को भी बढ़ावा मिलेगा।”
प्रधानमंत्री मोदी ने सही मायने में सरदार पटेल को श्रद्धांजलि दी है। 

काशी विश्वनाथ से स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को जोड़ने वाली महामना स्पेशल सुपरफास्ट एक्सप्रेस भी इनमें से एक है। वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन से चलकर यह गुजरात के केवड़िया स्टेशन तक पहुंचेगी। यहीं पर सरदार वल्लभभाई पटेल का स्मारक स्टैच्यू ऑफ यूनिटी स्थित है।
ट्रेन से जोड़ी कुछ खास बातें :-
वाराणसी से स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक स्पेशल ट्रेन। पर्यटकों को ध्यान में रखते हुए इस ट्रेन को चलाया जा रहा है। इसके चलने से उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात के यात्रियों को फायदा मिलेगा। बताते चलें कि गुजरात का केवड़िया रेलवे स्टेशन देश के सबसे खूबसूरत स्टेशनों में से एक है। पुनर्निर्माण के बाद केवड़िया रेलवे स्टेशन एयरपोर्ट जैसा नजर आ रहा है।अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से यह सीधे जुड़ गया है।
यात्री महज 27 घंटे 50 मिनट का सफर ये सुपरफास्ट ट्रेन काशी से केवड़िया का सफर तय करेगी। ट्रेन सप्ताह में प्रत्येक गुरुवार को प्रातः 5 बजे वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन से रवाना होगी। 1614 किलोमीटर का सफर तय कर महामना एक्सप्रेस अगले दिन सुबह 9 बजकर 15 मिनट पर केवड़िया स्टेशन पहुंचेगी। मंगलवार की शाम 6 बजकर 55 मिनट पर ये ट्रेन केवड़िया से वापस वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन के लिए रवाना होगी।

ये होगा ट्रेन का रूट
काशी-केवड़िया महामना एक्सप्रेस वाराणसी- प्रयागराज-सतना- कटनी-जबलपुर- इटारसी- भुसावल, नंदूरबार-सूरत-भरूच-वडोदरा के रास्ते केवड़िया का सफर तय करेगी।

फर्स्ट एसी से स्लीपर इतना होगा किराया:

वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन के प्रबंधक आनंद मोहन ने बताया कि इस ट्रेन के सभी सभी डिब्बों में एलएचबी कोच लगाए गए हैं। इससे यात्री आरामदायक सफर का लुत्फ उठा सकेंगे। फर्स्ट टायर एसी के लिए यात्रियों को ₹ 4945 , सेकेंड टायर एसी के लिए ₹ 2910, थर्ड टायर एसी के लिए ₹ 2020, स्लीपर के लिए ₹ 770 और जनरल कोच के लिए ₹ 470 रुपये किराया तय किया गया है।

वाराणसी में काशी-केवड़िया ट्रेन की लगभग सभी सीटें पहले दिन ही बुक हो गई थीं। इससे यह पता चलता है कि लोगों को ऐसे ट्रेन के संचालन की कितनी जरुरुत है। टिकट का विकल्प खुलते ही सीटे जल्द ही बुक हो गई थीं। 

इस मौके पर प्रधानमंत्री के साथ दिल्ली, महाराष्ट्र, यूपी,गुजरात के मुख्यमंत्री ने भी ऑनलाइन हरी झंडी दिखाकर ट्रेनों को रवाना किया। वहीं विभिन्न राज्यों को सांसद, राज्यमंत्री भी ऑनलाइन इस लोकार्पण में जुड़े।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button