आयोजनशहर बनारस
Trending

पर्यटक व टूरिस्ट गाइड को सम्मानित किया गया पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी ने कहा कोरोना काल में पड़ा पर्यटन पर बुरा असर

रिपोर्ट श्वेताभ सिंह

पर्यटक व टूरिस्ट गाइड को सम्मानित किया गया पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी ने कहा कोरोना काल में पड़ा पर्यटन पर बुरा असर

 

वाराणसी।विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर काशी मे आने वाले पर्यटकों को यहां के वैभव से रूपांतरित करवाने वाले टूरिस्ट गाइडों का सम्मान सूबे के पर्यटन, संस्कृति एवं धर्मार्थ कार्य राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. नीलकंठ तिवारी ने किया।मानमहल वेधशाला में
सम्मान समारोह का आयोजन में किया गया। सम्मान में काशी की पहचान काष्ठ उद्योग में बना लकड़ी का सुंदर वाल हैंगिग, रुद्राक्ष माला व अंगवस्त्र प्रदान किया। सम्मान प्राप्त कर पर्यटक काफी अभिभूत दिखे। काशी की संस्कृति व इसके इतिहास से पर्यटकों को परिचय कराने गाइडों ने भी काफी प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि आज काफी अच्छा लगा कि हम जिस पर्यटन के क्षेत्र में कार्य करते हैं पर्यटन मंत्रालय के मंत्री द्वारा सम्मान प्राप्त हुआ यह गौरव की बात है हम मंत्री जी के आभारी हैं कि उन्होंने हम लोगों के बारे में भी सोचा।

उत्तर प्रदेश सरकार के पर्यटन, संस्कृति एवं धर्मार्थ कार्य राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ0 नीलकंठ तिवारी ने अपने संबोधन में कहा कि इस वैश्विक महामारी में पर्यटन पर काफी असर पड़ा है, किंतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंन्त्री योगी आदित्यनाथ की प्रेरणा से पर्यटन विकास की ओर अग्रसर हो रहा है। डोमेस्टिक टूरिज्म पर कार्य किया जा रहा है। गंगा घाट के किनारे के गाँवों को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने की अर्थगंगा योजना पर काम हो रहा है। कोरोना काल की महामारी में काशी में पर्यटन संभावनाओं को देखते हुए माझी समाज द्वारा नावों का संचालन, गंगा आरती दर्शन, सांस्कृतिक पक्ष व आध्यात्मिक पक्ष सभी पर विचार कर धीरे-धीरे प्रारंभ किया जा रहा है। काशी आध्यात्म व पर्यटन का विशेष केंद्र माना जाता है। इस केंद्र को पुनः उसी रूप में स्थापित करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार मुख्यमंन्त्री योगी आदित्यनाथ के मार्गदर्शन में लगातार इस पर कार्य कर रही है।

प्रारम्भ में कार्यक्रम संयोजक विप्र फाउंडेशन के अध्यक्ष पवन शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में कोरोना संक्रमण के चलते पर्यटन उद्योग काफी प्रभावित हुआ है। सभी होटल, गेस्ट हाउस व धर्मशाला खाली पड़े हैं। काशी का पर्यटन विश्व में अपना स्थान रखता है। इसकी संस्कृति से प्रभावित होकर लोग यहाँ निरंतर आते रहते हैं। ऐसे में आज यदि हम किसी यात्री का सम्मान करते हैं तो उसे काफी अच्छा महसूस होता है। काशी के चारों कोनों से परिचित कराने वाले वरिष्ठ गाईड डा0दिनेश तिवारी, अविनाश गुप्ता, कृष्ण कुमार निषाद, आशीष झा व पर्यटकों में कोरिया के ली कूक सियोंग, उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर के सत्यम मिश्रा, अनामिका मिश्रा तथा चेन्नई के लिंगमूर्ति का सम्मान हुआ। कार्यक्रम का संचालन संयोजक पवन शुक्ला ने किया। स्वागत वेदमूर्ति शास्त्री व विनय यादव ने किया। प्रारंभ में उदित नारायण मिश्र ने मंगलाचरण का पाठ किया। उपस्थित अन्य प्रमुख लोगों में प्रदीप पांडेय,अतुल मिश्र,निशांत मिश्र,शांतनु चक्रवाल, लकी शास्त्री तथा आब्जरवेटरी के प्रभारी अनिल सिंह व रजनीश सिंह आदि उपस्थित रहे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button