प्रदेशविकास प्राधिकरणशहर बनारसस्वास्थ्य/योग
Trending

मुख्यमंत्री योगी ने कोरोना की तीसरी वेव के मद्देनजर वाराणसी में अधिकारियों संग की समीक्षा बैठक,तैयारि‍यों को जल्‍द से जल्‍द पूरा करने के दिया नि‍र्देश

अधिक जानकारी हेतु देखें यह पूरा पोस्ट

रिपोर्ट श्वेताभ सिंह

 

मुख्यमंत्री योगी ने कोरोना की तीसरी वेव के मद्देनजर वाराणसी में अधिकारियों संग की समीक्षा बैठक,तैयारि‍यों को जल्‍द से जल्‍द पूरा करने के दिया नि‍र्देश

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दो दिवसीय वाराणसी दौरे के पहले दिन सोमवार को कमिश्नरी सभागार में वाराणसी मंडल के जनपदों के अधिकारियों के साथ कोविड-19 के संबंध में समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्‍होंने थर्ड वेव में बच्चों के संक्रमित होने की आशंका पर अधि‍कारि‍यों से अस्पतालों में बेड, आईसीयू, ऑक्‍सीजन, दवाइयों और ऑक्‍सीजन की पर्याप्‍त उपलब्धता बनाये रखने को लेकर दि‍शा नि‍र्देश दि‍ये। 

बैठक के दौरान मुख्‍यमंत्री ने जनपद जौनपुर, गाजीपुर एवं चंदौली को कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने का निर्देश दिया। चंदौली में अब तक मात्र 18800 मेडिसिन किट वितरण पर भी सवाल उठाते हुए इसमें तेजी लाने का निर्देश दिया। निगरानी समिति जिन लोगों को मेडिसिन किट उपलब्ध करा रही है, उस सूची का सत्यापन इंटीग्रेटेड कोविड कंट्रोल कमांड सेंटर से कराए जाने का निर्देश दिया। मेडिसिन किट वितरण का पर्यवेक्षण सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात कर नजर रखे जाने पर भी विशेष जोर दिया। गाजीपुर में 10 वेंटीलेटर क्रियाशील न होने पर इसे तत्काल क्रियाशील कराए जाने का निर्देश दिया। जनपद चंदौली, गाजीपुर एवं जौनपुर के जिलाधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े रहे ।

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने पावर प्रजेंटेशन के माध्यम से वाराणसी मंडल के प्रगति पर प्रकाश डालते हुए बताया कि कोरोना के सेकंड बेव के दौरान वाराणसी मंडल में अब तक कुल 863225 लोगों की टेस्टिंग किया गया। जिसमें 100058 लोग पॉजिटिव पाए गए। पॉजिटिविटी दर 11.59 प्रतिशत रहा। वाराणसी मंडल में वर्तमान में टोटल एक्टिव केस की संख्या 6361 हैं, जबकि होम आइसोलेशन में 5374 लोग हैं। मृत्यु दर 0.91 फ़ीसदी की रहा। जबकि रिकवरी रेट 93.0 फ़ीसदी रहा। गत एक सप्ताह में पॉजिटिविटी रेट 1.85 फ़ीसदी हो गया है। वाराणसी जनपद में होम आइसोलेशन में 2912 तथा अस्पतालों में 650 सहित कुल 3562, जनपद जौनपुर में होम आइसोलेशन में 1329 तथा अस्पतालों में 211 सहित कुल 1540, जनपद गाजीपुर में होम आइसोलेशन में 752 तथा अस्पतालों में 82 सहित कुल 834 तथा जनपद चंदौली में होम आइसोलेशन में 230 तथा अस्पतालों में 87 सहित कुल 317 एक्टिव केस है। वाराणसी मंडल में कोविड एंबुलेंस 115 सहित कुल 182 एंबुलेंस की उपलब्धता है। जिसमें वाराणसी जनपद में कोविड एंबुलेंस 42 सहित कुल 69, जनपद जौनपुर में 35 सहित 50, जनपद गाजीपुर में 25 सहित 40 तथा चंदौली में कोविड एंबुलेंस 13 सहित कुल 23 की उपलब्धता है। 

वाराणसी मंडल में वेंटीलेटर के 778, एचएफएनसी के 189 तथा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर युक्त 698 बेड की उपलब्धता है। जिसमें वाराणसी जनपद में वेंटीलेटर के 664, एचएफएनसी के 172 तथा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर युक्त 220, जौनपुर में  वेंटीलेटर के 47, एचएफएनसी के 13 तथा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर युक्त 158 बेड, जनपद गाजीपुर में वेंटीलेटर के 34, एचएफएनसी के 02 तथा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर युक्त 187 तथा जनपद चंदौली में वेंटीलेटर के 33, एचएफएनसी के 02 तथा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर युक्त 133 बेड की उपलब्धता है। 

वाराणसी मंडल में आरआरटी 626, निगरानी समिति 4837 के साथ ही अब तक 272511 मेडिसिन किट का वितरण किया जा चुका है। जिसमे वाराणसी जनपद में आरआरटी 100, निगरानी समिति 868 के साथ ही अब तक 137213 मेडिसिन किट, जनपद जौनपुर में आरआरटी 234, निगरानी समिति 1908 के साथ ही अब तक 46101 मेडिसिन किट, जनपद गाजीपुर में आरआरटी 190, निगरानी समिति 1262 के साथ ही अब तक 70377 मेडिसिन किट तथा जनपद चंदौली में आरआरटी 102, निगरानी समिति 799 के साथ ही अब तक 18820 मेडिसिन किट का वितरण अब तक किया जा चुका है। 

वाराणसी मंडल में 9 सरकारी अस्पतालों में नए ऑक्सीजन प्लांट लगा दिए गए हैं, जबकि 34 सरकारी अस्पतालों में प्लांट लगाने की कार्यवाही चल रहा है। इस प्रकार वाराणसी मंडल में कुल 43 सरकारी चिकित्सालय अपने ऑक्सीजन प्लांट पर आत्मनिर्भर होंगे। वाराणसी मंडल के सभी जिलों में इंटीग्रेटेड कोविड कंट्रोल कमांड सेंटर क्रियाशील है। जिसमें 98 फोन लाइन पर 585 मैनपावर लगाकर 24 घंटे लोगों को सहायता पहुंचाई जा रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री को आश्वस्त करते हुए बताया कि मई माह के अंत तक कोरोना के दूसरे वेब पर पूरी तरह नियंत्रण प्राप्त कर लिया जाएगा।

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वाराणसी कमिश्नरी सभागार से ही प्रदेश की टीम-9 के अधिकारियों के साथ भी बैठक की। उन्होंने कहा कि जून से वैक्सीन की पर्याप्त उपलब्धता बढ़ेगी। हर वैक्सीन सेंटर को कॉल सेंटर से जोड़कर वहां पर वैक्सीनेशन के लिए उतने लोगों को ही बुलाया जाए, जितने को वैक्सिंग लगानी है। ताकि बिना वजह लोग लाइन में खड़ा न होने पाए। 

वाराणसी के तीन सहित प्रदेश के अन्य एमसीएच विंग में भर्ती प्रक्रिया शीघ्र करने का निर्देश दिया। मेडिसिन किट वितरण हेतु जिलों के जिलाधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को जवाबदेह बनाया जाए। सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की रंगाई पुताई एवं मरम्मत कार्य पर पैनी नजर रखें। इसके लिए टीम बनाकर रोजाना रिपोर्टिंग करने का भी निर्देश दिया। वेंटीलेटर संचालन हेतु टेक्नीशियन की कमी पूरा करने के लिए मुख्यमंत्री ने स्किल डेवलपमेंट सेंटर एवं आईटीआई के प्रशिक्षित लोगों की सूची प्राप्त कर सरकारी खर्चे पर लखनऊ बुलाकर उन्हें तत्काल प्रशिक्षण देकर जिलों में तैनात किए जाने का निर्देश दिया। जिससे वेंटीलेटर संचालन की समस्या का तत्काल समाधान हो सके। 

उत्तर प्रदेश में एक हजार मैट्रिक टन से अधिक आवंटित ऑक्सीजन के सापेक्ष 600 मेट्रिक टन ऑक्सीजन की ही प्रतिदिवस खपत हो रही है। कोरोना कर्फ्यू को कड़ाई से पालन कराने, सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ इकट्ठा न होने देने तथा मास्क का प्रयोग सुनिश्चित कराए जाने का मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारी को निर्देशित किया। ग्रामीण क्षेत्रों में सैनिटाइजेशन, सफाई कार्य एवं फागिंग व्यवस्था प्रभावी तरीके से युद्ध स्तर पर कराए जाने का निर्देश दिया। मोहल्ले-मोहल्ले एवं कंटेनमेंट जोन में इसे हर हालत में सुनिश्चित कराए जाने पर विशेष जोर दिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 25 व 26 मई को नव निर्वाचित ग्राम प्रधानों एवं सदस्यों का शपथ ग्रहण में भीड़ कतई न होने देने तथा कोविड प्रोटोकॉल का पालन सख्ती से कराए जाने का निर्देश दिया। शपथ ग्रहण कार्यक्रम को शांतिपूर्ण ढंग से कराए जाने पर भी उन्होंने जोर दिया। प्रदेश के सभी जिलों में शुरू हो चुके कम्युनिटी किचन को वीडियो वाल से जोड़कर उसकी रोजाना मानिटरिंग करने का निर्देश दिया। गेहूं क्रय केंद्रों पर किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी न होने पाए। गेहूं क्रय केंद्रों के संबंध में एसडीएम एवं मार्केटिंग इंस्पेक्टर से संबंधित यदि किसी भी प्रकार की शिथिलता प्रकाश में आए, तो संबंधित के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करने का निर्देश दिया। 

जौनपुर के जिलाधिकारी को निर्देशित करते हुए उन्होंने कहा कि जौनपुर में इस प्रकार की शिकायत मिल रही है, इस पर भी नजर रखें और गड़बड़ी मिलने पर संबंधितो के विरुद्ध कठोर कार्रवाई करें। होम आइसोलेशन, मेडिसिन किट वितरण एवं ब्लैक फंगस के मरीजों पर नजर रखने के लिए सीएम हेल्प डेस्क से संबंधितो से वार्ता कर व्यवस्था पर नजर रखी जाएगी। 

ब्लैक फंगस से निपटने के लिए प्रदेश के मेडिकल कॉलेजो में 400 बेड क्षमता को 700 तक करने का निर्देश दिया। निर्माणाधीन सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए नोडल अधिकारी तैनात कर निर्धारित समय से उसे पूरा कराकर क्रियाशील कराए जाने पर विशेष जोर दिया। अस्पतालों में कोविड वार्ड के साथ ही पोस्ट कोविड वार्ड बनाए जाने पर विशेष जोर दिया। ताकि अन्य रोगों से पीड़ित मरीजों का भी इलाज सुनिश्चित हो सके। महिलाओं एवं बच्चों के लिए हर जिले में हेतु अस्पताल बनाए जाने पर विशेष जोर दिया। ताकि अन्य रोगों से पीड़ित महिलाओं एवं बच्चों का इलाज सुनिश्चित हो सके। 

उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि बिना वजह अपने ऑफिसो में अटेच किए कर्मियों की तैनाती एक सप्ताह के अंदर सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर करना सुनिश्चित करें। 1 जून से 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए वैक्सीनेशन की व्यवस्था की गई है। राशन की दुकानों पर जनप्रतिनिधि अपने-अपने दो व्यक्तियों को लगाकर वितरण सुनिश्चित कराएं। वैक्सीनेशन सेंटर में भी दो-दो लोगों को लगाएं और जनप्रतिनिधि स्वयं भी वहां पर जाएं। ओवर बिलिंग करने वाले नर्सिंग होम एवं जांच सेंटरों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही किया जाए। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना के थर्डवेव को रोकने के लिए चिकित्सा व्यवस्था को पूरी तरह चुस्त-दुरुस्त रखने पर विशेष जोर दिया। विशेष जोर देते हुए कहा कि 12 साल तक के बच्चों के अभिभावकों को चिन्हित कर उनका वैक्सीनेशन सुनिश्चित कराया जाए। ताकि अभिभावकों के साथ-साथ बच्चे भी सुरक्षित हो सके। ब्लैक फंगस के प्रति विशेष जागरूकता व सावधानियों का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार कराए जाने तथा लोगो में जन जागरूकता सुनिश्चित कराए जाने पर उन्होंने विशेष जोर दिया।

बैठक में मंत्री डॉक्टर नीलकंठ तिवारी, मंत्री रविंद्र जायसवाल, एमएलसी लक्ष्मण आचार्य, एमएलसी अशोक धवन, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह, विधायक डॉ अवधेश सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद, एडीजी बृजभूषण, कमिश्नर दीपक अग्रवाल, डी आई जी एस के भगत, कमिश्नर ए सतीश गणेश, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button